Motilal Nehru History in Hindi मोतीलाल नेहरू की जीवनी

  • 0

Motilal Nehru History in Hindi मोतीलाल नेहरू की जीवनी

मोतीलाल नेहरु का इतिहास

History of Motilal Nehru in Hindi– मोतीलाल नेहरु कश्मीरी ब्राह्मण थे और इनका जन्म 6 मई 1861 ईस्वी को दिल्ली में हुआ था| पंडित नेहरू के पिता का नाम गंगाधर एवं माता का नाम जीव रानी था| आपके पिता की मृत्यु आपके जन्म से पूर्व ही हो गई थी अतः आप का पालन-पोषण आपके बड़े भाई नंदलाल ने किया जो कि इलाहाबाद में वकील थे| आपने कानून की डिग्री हासिल करने के पश्चात उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले में अपनी वकालत प्रारंभ की और जल्द ही आप एक प्रख्यात वकील के रूप में उभरकर जनमानस के सामने आए| इसके साथ ही साथ आपने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया, आपने स्वदेशी आंदोलन एवं 1917 ईस्वी में हुए होमरूल आंदोलन में भाग लिया तथा इन आंदोलनों के काफी सक्रिय कार्यकर्ता भी रहे| आपको 1919 ईस्वी में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अध्यक्ष चुना गया|

Biography of Motilal Nehru in Hindi

नाम मोतीलाल नेहरु
जन्मतिथि 6 मई 1861
जन्म स्थान दिल्ली
मृत्यु 6 फ़रवरी 1931
मृत्यु स्थान लखनऊ
पिता का नाम गंगाधर
शिक्षा वकालत
स्थापना स्वराज्य दल

 

महात्मा गांधी के असहयोग आंदोलन में नेहरु जी की भूमिका बहुत ही सक्रिय एवं महत्वपूर्ण थी परंतु जब गांधी जी ने असहयोग आंदोलन को स्थगित करने का फैसला किया तो आपने 1923 ईस्वी में चितरंजन दास के साथ मिलकर स्वराज्य दल की स्थापना की| 1927 में जब साइमन कमीशन भारत आया था तो उसके विरोध में भी आपने सक्रिय भूमिका निभाई थी|

पढ़िए 👉 दादाभाई नोरोजी का जीवन परिचय

Motilal Nehru History Biography Essay in Hindi

जब साइमन कमीशन भारत आया था तब मोतीलाल नेहरु ने स्वतंत्र भारत के संविधान का प्रारूप तैयार किया था| इस प्रारूप में भारत को अधिराज्य का दर्जा दिए जाने का प्रस्ताव था| सुभाष चंद्र बोस और पंडित जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व वाले कांग्रेस के कट्टरपंथी गुट ने इस अधिराज्य के दर्जे का विरोध किया था और पूर्ण स्वतंत्रता की मांग की थी| 10 अगस्त 1928 ईसवीं को आपने “नेहरू रिपोर्ट” सौंपी थी| नेहरू जी को दोबारा सन 1928 ईस्वी में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया था|

पंडित मोतीलाल नेहरु भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख सेनानी थे और आपकी मृत्यु 6 फ़रवरी 1931 ईस्वी को लखनऊ में हुई थी|

पढ़िए 👉 बाल गंगाधर का इतिहास
पढ़िए 👉 Biography of Gopal Krishna Gokahle in Hindi

Share this with your friends--

Leave a Reply