हरियाणा का इतिहास History of Haryana in Hindi

  • 0

हरियाणा का इतिहास History of Haryana in Hindi

History of Haryana in Hindi Language

हरियाणा भारत का 20 वां राज्य है इस राज्य का गठन 1 नवंबर 1966 को हुआ था, वर्तमान समय में इस राज्य में 21 जिले हैं। हरियाणा पहले पंजाब राज्य के अधीन था। हरियाणा प्रान्त का इतिहास बड़ा गौरवपूर्ण है और इस राज्य का इतिहास वैदिक काल से प्रारम्भ होता है| हरियाणा राज्य के पूर्व में उत्तर प्रदेश, उत्तर पश्चिम में पंजाब प्रांत, उत्तर में हिमाचल प्रदेश तथा दक्षिण पश्चिम में राजस्थान स्थित है|
हरियाणा प्रदेश का पहला प्रादेशिक नाम ब्रह्मावर्त था| इसके बाद महाभारत काल में राजा कुरु के नाम ब्रह्मावर्त ( आधुनिक हरियाणा) को कुरुक्षेत्र और आर्यावर्त कहा गया| 9वीं सदी में हरियाणा को हरियाला के नाम से जाना जाता था, जबकि 10 वीं सदी में हरियाणा राज्य के लिए हरियाणऊ नाम चुना गया था| हरियाणा राज्य का इतिहास बहुत ही प्राचीन है और इसका उल्लेख ह में बौद्ध एवं जैन धर्म के साहित्य में मिलता है| इस राज्य का उल्लेख हिंदू धर्म के ग्रंथ महाभारत में भी है| बौद्ध धर्म के साहित्य से हमें पता चलता है कि महात्मा गौतम बुद्ध ने प्राचीन काल में हरियाणा प्रांत का भ्रमण किया था| हरियाणा राज्य से प्राचीन काल की मुद्राएं एवं सिक्के प्राप्त हुए हैं और साथ ही साथ किस राज्य के कई जिलों से पुरापाषाण काल, उत्तर पाषाण काल एवं हड़प्पा सभ्यता से जुड़ी हुई कई जानकारियां एवं स्थान भी प्राप्त हुए हैं|
हड़प्पा सभ्यता से जुड़े प्रमुख स्थलों के नाम निम्नलिखित हैं-
बनावली, भगवानपुर, राखीगढ़ी एवं कुणाल|

History of Haryana in Hindi Language

हरियाणा राज्य में पृथ्वीराज चौहान के शासनकाल में चौहानों का राज्य स्थापित था| मोहम्मद गौरी और पृथ्वीराज चौहान के मध्य तराइन का ऐतिहासिक युद्ध किसी राज्य में लड़ा गया था| इसके साथ ही साथ खिलजी वंश, लोदी वंश के कई शासकों ने हरियाणा के कई स्थानों पर अपना आधिपत्य किया था|
पानीपत का प्रथम युद्ध जोकि इब्राहिम लोदी एवं बाबर के मध्य लड़ा गया था हरियाणा राज्य में ही हुआ था| यह युद्ध 20 अप्रैल 15 से 26 ईसवी को पानीपत के मैदान में लड़ा गया था|
हरियाणा राज्य का इतिहास पानीपत के द्वितीय एवं तृतीय युद्ध का भी गवाह है|

भारत में ब्रिटिश शासन के कार्यकाल में हरियाणा में कई विद्रोह हुए इन विद्रोहों में रानिया का विद्रोह, छछरौली का विद्रोह, लाडवा विद्रोह, बलावर्ली विद्रोह, कैथल विद्रोह प्रमुख है|
1857 की क्रांति में हरियाणा राज्य ने प्रमुखता से भाग लिया एवं अंबाला, गुड़गांव, हिसार रोहतक आदि शहरों में क्रांति का बिगुल बजा|
हरियाणा राज्य ने खिलाफत आंदोलन, असहयोग आंदोलन में महात्मा गांधी के विचारों पर अग्रसर होते हुए कई स्वतंत्रता सेनानियों को भारत के स्वतंत्रता संग्राम में न्योछावर किया है|

Important Facts of Haryana History in Hindi

☑ गठन : हरियाणा राज्य का गठन 1 नवंबर 1966 को हुआ था|
☑ सीमा: हरियाणा पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश और यमुना नदी से घिरा हुआ है। हरियाणा में देश की राजधानी दिल्ली की तीन तरफ से सीमाएं हैं।
☑ जनसंख्या: जनगणना 2011 के अनुसार, इस राज्य की आबादी 25,353,081 है। जनसंख्या के मामले में हरियाणा 16 वें स्थान पर है।
☑ भूमि क्षेत्र: इस राज्य का भूमि क्षेत्र 44,212 वर्ग किमी है। भूमि क्षेत्र के अनुसार इस राज्य की 20 वीं रैंक है।
☑ भाषा: हरियाणा की आधिकारिक भाषा हिंदी और पंजाबी है तथा इसकी क्षेत्रीय भाषा हरियाणवी है|
☑ साक्षरता: इसकी साक्षरता अनुपात 76.64% है
☑ लड़ाई लड़ी – यह वह राज्य है जिसमें महाभारत का युद्ध और पानीपत की तीन लड़ाइयों सहित कई खतरनाक लड़ाई लड़ी गई थी।
☑ शहर: इसकी राजधानी चंडीगढ़ है लेकिन इसका सबसे बड़ा शहर फरीदाबाद है
☑ जिला: इस राज्य में 21 जिले हैं।
☑ हरियाणा में कितनी तहसीलें है ? 83
☑ हरियाणा में कितनी उप तहसीलें है? 47
☑ हरियाणा का उच्च नयालय कहा पर स्थित है ? चंडीगढ़
☑ हरियाणा का राजकीय पशु – ब्लैक बक
☑ हरियाणा का राजकीय वृक्ष – पीपल
☑ हरियाणा का राजकीय पुष्प – कमल
☑ हरियाणा का राजकीय पक्षी – काला तीतर
☑ हरियाणा का राजकीय खेल – कुश्ती

Share this with your friends--

Leave a Reply