Bill Gates Biography in Hindi बिल गेट्स की जीवनी

  • 0
Bill Gates Biography in Hindi

Bill Gates Biography in Hindi बिल गेट्स की जीवनी

बिल गेट्स का पूरा नाम विलियम हेनरी गेट्स है, और उनका जन्म वाशिंगटन में 28 अक्टूबर 1955 को हुआ था| उनके पिता का नाम विलियम गेट्स है और वह एक वकील थे| उनकी माता का नाम मैरी गेट्स था|

बिल गेट्स की बड़ी बहन का नाम क्रिस्टी और छोटी बहन का नाम लिब्बी है| बिल का उपनाम “ट्रे” है यह नाम उनकी दादी ने उन्हें दिया था|

बचपन में बिल गेट्स को बोर्ड गेम खेलना बहुत पसंद था इसके अलावा वह कई अन्य खेल भी खेलते थे| वह एक प्रतिभावान छात्र थे और उनका सबसे पसंदीदा विषय गणित था| बिल गेट्स गणित के अलावा विज्ञान आदि विषयों में भी रूचि रखते थे, और वह बहुत ही कुशाग्र बुद्धि के थे| उन्होंने SAT में 1600 में से 1590 अंक प्राप्त किए थे|

जब बिल गेट्स की उम्र 13 साल की हो गई तो उनका दाखिला लेकसाइड के प्रिपेरटरी स्कूल में करवाया गया| स्कूल में बिल गेट्स की मुलाकात पॉल एलन से हुई जो कि आगे चलकर बिल गेट्स के बिजनेस पार्टनर बने| इस स्कूल में बिल गेट्स को कंप्यूटर से परिचित कराया गया था|

उस समय आज के जमाने जैसे कंप्यूटर, लैपटॉप या टैबलेट उपलब्ध नहीं थे| कंप्यूटर केवल बड़ी-बड़ी कंपनियों के पास ही हुआ करते थे, परंतु लेकसाइड स्कूल ने अपने स्टूडेंट्स के लिए एक कंप्यूटर खरीद रखा था जिसका उपयोग वहां पर पढ़ने वाले छात्र कर सकते थे| बिल गेट्स ने कंप्यूटर में बहुत अधिक रुचि दिखाई और उस समय ही उन्होंने अपना पहला कंप्यूटर प्रोग्राम लिखा था|
Bill Gates Biography in Hindi

आगे चलकर बिल गेट्स ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय में एडमिशन लिया और वह एक वकील बनना चाहते थे, लेकिन उन्होंने अपना अधिकांश समय कंप्यूटर पर ही बिताना आरंभ कर दिया था| इसके अतिरिक्त वह अपने दोस्त पॉल एलन के भी संपर्क में रहा करते थे जो कि हनीवेल में काम कर रहे थे|

1974 में जब अल्टेयर पर्सनल कंप्यूटर सामने आया, तो गेट्स और एलन ने फैसला किया कि वे कंप्यूटर पर रन होने वाले BASIC सॉफ्टवेयर प्रोग्राम को लिख सकते हैं। उन्होंने अल्टेयर से बातचीत की और उन्हें बताया कि वे कंप्यूटर प्रोग्राम पर काम कर रहे हैं। अल्टेयर कुछ हफ्तों में ही उनके कंप्यूटर प्रोग्राम का प्रदर्शन करना चाहता था, लेकिन बिल गेट्स अभी तक इस कंप्यूटर प्रोग्राम को बनाना आरंभ नहीं किया था| परंतु उन्होंने अगले महीने तक बहुत ही कड़ी मेहनत की और अंततः जब वे सॉफ्टवेयर को चलाने के लिए न्यू मैक्सिको गए तो उस सॉफ्टवेयर ने पूरी तरह से पहली बार काम किया|

सन 1975 में बिल गेट्स ने हार्वर्ड विश्वविद्यालय को छोड़ दिया और अपनी खुद की सॉफ्टवेयर कंपनी को प्रारंभ करने का निर्णय लिया| इस कार्य में उनका साथ उनके दोस्त एलेन ने दिया और इस कंपनी का नाम माइक्रोसॉफ्ट हुआ| यह कंपनी बहुत ही अच्छे तरीके से चल रही थी लेकिन 1980 में बिल गेट्स ने IBM के साथ एक डील की| बिल गेट्स ने IBM को अपना सॉफ्टवेयर बेच दिया परंतु इसका कॉपीराइट उन्होंने अपने पास ही रखा| और देखते ही देखते माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम दुनियाभर के तमाम कंप्यूटर्स में स्थापित हो गया|

1985 में, गेट्स और माइक्रोसॉफ्ट ने एक और जोखिम लिया। उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम जारी किया।1984 में Apple कंपनी ने एक ऑपरेटिंग सिस्टम लांच किया था और उसी ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रतिद्वंदी के रूप में बिल गेट्स ने यह ऑपरेटिंग सिस्टम जारी किया था| हालांकि शुरुआत में बहुत से लोगों ने शिकायत की कि यह कंप्यूटर पर सही ढंग से कार्य नहीं कर रहा है लेकिन बिल गेट्स इस पर निरंतर कार्य करते रहे| उन्होंने बताया Apple द्वारा बनाया गया ऑपरेटिंग सिस्टम केवल एक तरह की मशीन पर ही काम कर सकता है जबकि हमारा बनाया गया ऑपरेटिंग सिस्टम कई तरह की मशीनों पर कार्य कर सकता है| अंततः माइक्रोसॉफ्ट ने यह लड़ाई जीत ली और जल्द ही दुनिया के लगभग 90% पर्सनल कंप्यूटर में यह ऑपरेटिंग सिस्टम स्थापित हो गया|
बिल गेट्स इस जीत से संतुष्ट नहीं हुए और उन्होंने अगले कुछ वर्षों में कई अन्य नए उत्पादों जैसे कि माइक्रोसॉफ्ट वर्ड और एक्सेल जैसे प्रोग्राम दुनिया के सामने पेश किया|

1986 में, गेट्स ने माइक्रोसॉफ्ट को सार्वजनिक कर दिया। कंपनी का शेयर 520 मिलियन डॉलर का था। गेट्स के पास खुद का 45% स्टॉक था, जिसकी कीमत 234 मिलियन डॉलर थी। कंपनी ने अपनी तेजी से वृद्धि जारी रखी और स्टॉक की कीमत बढ़ गई। एक समय पर, गेट्स का स्टॉक $100 बिलियन से अधिक था और वह दुनिया के सबसे अमीर आदमी थे।

गेट्स ने जनवरी 1994 में मेलिंडा फ्रेंच से शादी की। उनके तीन बच्चे हैं जिनमें दो बेटियां और एक बेटा है। 2000 में, गेट्स और उनकी पत्नी ने बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन का गठन किया। और यह दुनिया में चैरिटी करने वाली संस्थाओं में अग्रणी स्थान रखती है| गेट्स ने व्यक्तिगत रूप से 28 बिलियन डॉलर से अधिक का दान दिया है।

Share this with your friends--

Leave a Reply