Vijay Nagar Samrajya History in Hindi विजयनगर साम्राज्य का इतिहास

  • 0
Vijay Nagar Samrajya History in Hindi

Vijay Nagar Samrajya History in Hindi विजयनगर साम्राज्य का इतिहास

विजयनगर का शाब्दिक अर्थ है- ‘जीत का शहर‘। इस नगर को मध्ययुग का प्रथम हिन्दू साम्राज्य माना जाता है। हम्पी के मंदिरों और महलों के खंडहरों को देखकर जाना जा सकता है कि यह कितना भव्य रहा होगा। इसे यूनेस्को ने विश्‍व धरोहर में शामिल किया है। वियजनगर साम्राज्य की स्थापना हरिहर और बुक्का ने 1336 में की थी। जल्‍द ही उन्‍होंने उत्तर दिशा में कृष्‍णा नदी तथा दक्षिण में कावेरी नदी के बीच पूरे क्षेत्र पर अपना राज्‍य स्‍थापित कर लिया। विजयनगर साम्राज्‍य की बढ़ती ताकत से कई शक्तियों के बीच टकराव हुआ और उन्‍होंने बहमनी साम्राज्‍य के साथ बार बार लड़ाइयां लड़ी। विजयनगर साम्राज्‍य के सबसे प्रसिद्ध राजा कृष्‍ण देव राय थे। विजयनगर का राजवंश उनके कार्यकाल में भव्‍यता के शिखर पर पहुंच गया। वे उन सभी लड़ाइयों में सफल रहे जो उन्‍होंने लड़ी। 

इस साम्राज्य में चार राजवंशों ने  लगभग 310 वर्षों तक शासन किया-

1- संगम वंश – 1336-1485 ई.

2- सालुव वंश – 1485-1505 ई.

3- तुलुव वंश – 1505-1570 ई.

4- अरविडु वंश – 1570-1650 ई.

विजयनगर साम्राज्य के महत्वपूर्ण प्रश्न

Vijay Nagar Samrajya History Questions in Hindi-

प्रश्न- विजयनगर साम्राज्य की स्थापना कब व किसने की?

उत्तर. 1336 ई., हरिहर एवं बुक्का ने|

प्रश्न- अपनी “मदुरा विजय” कृति में अपने पति के विजय अभियानों का वर्णन करने वाली कवयित्री का नाम क्या है?

उत्तर. गंगा देवी| 

गंगा देवी कुमार कंपन की पत्नी थी और कुमार कंपन बुक्का राय के पुत्र थे|

प्रश्न- विजयनगर साम्राज्य का सबसे प्रभावशाली शासक कौन था?

उत्तर. कृष्णादेव राय

प्रश्न- कृष्णदेव राय शासक कब बना?

उत्तर. 1509 ई. में

प्रश्न- गोलकुंडा का युद्ध किसके किसके बीच हुआ था?

उत्तर. गोलकुंडा का युद्ध विजयनगर के राजा कृष्णदेव राय और गोलकुंडा के सुल्तान कुली कुतुब शाह के मध्य हुआ था|  गोलकुंडा हैदराबाद में स्थित है|

प्रश्न- कृष्णदेव राय किसके समकालीन थे?

उत्तर. बाबर के|

प्रश्न- किस राजा के दरबार में आठ तेलुगू कवि थे?

उत्तर. राजा कृष्णदेव राय के दरबार में 8 तेलुगु कवि थे जिनको की अष्ट दिग्गज के नाम से जाना जाता है| अष्ट दिग्गज के कवियों में पेड्डाना सर्वप्रमुख था| 

प्रश्न- आंध्र भोज की उपाधि किस शासक ने धारण की?

उत्तर.  राजा कृष्णदेव राय ने|

प्रश्न- प्रसिद्ध विजय विट्ठल मंदिर कहां स्थित है?

उत्तर. विट्ठल मंदिर का निर्माण राजा कृष्णदेव राय ने करवाया था और यह मंदिर वर्तमान समय के हंपी में स्थित है|

प्रश्न- कृष्णदेव राय के किन यूरोपवासियों के साथ मैत्रिपूर्ण संबंध थे?

उत्तर. पुर्तगालियों के साथ

प्रश्न- फारसी राजदूत अब्दुल रज्जाक विजयनगर किसके काल में आया था?

उत्तर. अब्दुल रज्जाक देवराय द्वितीय के शासनकाल में विजयनगर आया था| देवराय द्वितीय, संगम वंश के शासक थे और इनका कार्यकाल 1422 से लेकर 1446 तक था|

प्रश्न- विजयनगर किस नदी के तट पर स्थित है?

उत्तर. तुंगभद्रा नदी

प्रश्न- बहमनी राजाओं की राजधानी कहाँ थी?

उत्तर. गुलबर्गा में

प्रश्न- विजयनगर के खंडहर कहां स्थित हैं?

उत्तर. विजय नगर के खंडहर वर्तमान समय में हंपी में स्थित हैं| यहां पर विरुपाक्ष मंदिर स्थित है जोकि विजयनगर शासनकाल में ही बना था|

प्रश्न- विजयनगर साम्राज्य का पहला वंश संगम के नाम से क्यों जाना जाता है?

उत्तर. क्योंकि हरिहर एवं बुक्का के पिता का नाम संगम था|

Vijay Nagar Samrajya History in Hindi

प्रश्न-  विजयनगर साम्राज्य के किस शासक ने चीन के सम्राट के पास अपना राजदूत भेजा था|

उत्तर. संगम वंश शासक बुक्का प्रथम ने 1374 ईस्वी में चीन के सम्राट के पास अपना दूतमंडल भेजा था|

प्रश्न- हरिहर एवं बुक्का ने किस संत के प्रभाव में आकर विजयनगर साम्राज्य की स्थापना की?

उत्तर. विद्यारण

प्रश्न- संगम वंश का प्रमुख शासक कौन था?

उत्तर. देवराय प्रथम|

प्रश्न- विजय नगर का संघर्ष सदैव किसके साथ रहा?

उत्तर. बहमनी राज्य के साथ|

प्रश्न- विजयनगर के किस शासक ने बहमनी शासकों से गोवा को छीना था|

उत्तर. हरिहर द्वितीय ने|

प्रश्न- विजयनगर साम्राज्य का कौन-सा स्थान गलीचा निर्माण के लिए प्रसिद्ध था?

उत्तर. कालीकाट

प्रश्न- तालीकोटा का युद्ध कब हुआ था?

उत्तर. तालीकोटा का युद्ध 1565 ईस्वी में बहमनी राज्यों की संयुक्त सेनाओं और विजयनगर की सेनाओं के मध्य हुआ था| इस युद्ध में विजय नगर की सेना परास्त हुई थी और इसी युद्ध में हुसैन निजाम शाह ने अपने हाथों से रामराय का वध किया था|

प्रश्न- होयसल स्मारक कहां पर स्थित है?

उत्तर.  होटल स्मारक हलेबिड और बेलूर में स्थित है| राजवंश की राजधानी द्वारसमुद्र थी जिसका वर्तमान में नाम हलेबिड है| यह स्थान वर्तमान समय में कर्नाटक राज्य के हासन जिले में स्थित है| 

Share this with your friends--

Leave a Reply