Female Freedom fighters of India in Hindi

  • 0

Female Freedom fighters of India in Hindi

Women/Female Freedom fighters of India in Hindi-
जब भारत पर ब्रिटिश हुकूमत का राज्य था तब उस दौरान ब्रिटिश शासन को भारत से जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए कई छोटे बड़े आंदोलन हुए जिनमें से कुछ आंदोलन बहुत ही उग्र और कुछ आंदोलन बहुत ही शांत थे| भारत के स्वतंत्रता सेनानियों का एकमात्र उद्देश्य यह था कि भारत को किसी भी तरीके से स्वतंत्र राष्ट्र बनाना| एक तरफ महात्मा गांधी जोकि अहिंसा के पुजारी थे तो दूसरी तरफ भगत सिंह, सुखदेव नेताजी सुभाष चंद्र बोस आदि क्रांतिकारी नेता युवाओं के प्रेरणा स्रोत एवं भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के सक्रिय कार्यकर्ता थे| इन सभी का मकसद एक ही था वह यह कि भारत को जल्द से जल्द ब्रिटिश हुकूमत की गुलामी से आजाद कराना| एक और जहां भारत के स्वतंत्रता संग्राम में पुरुषों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया तो दूसरी ओर इस कार्य में महिलाएं भी पीछे नहीं रही| रानी लक्ष्मीबाई जैसी वीरांगनाओं ने ब्रिटिश हुकूमत से लड़ते हुए अपनी जान तक न्योछावर कर दी| कमला नेहरू, विजयलक्ष्मी पंडित, कस्तूरबा गांधी, सरोजिनी नायडू, सुचेता कृपलानी आदि कई महिलाओं ने स्वतंत्रता आंदोलन में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई और आपके द्वारा किए गए कार्य के लिए संपूर्ण भारतवर्ष सदैव आपका ऋणी रहेगा|

List of Female freedom fighters of India in Hindi-

  • रानी लक्ष्मीबाई
  • सरोजिनी नायडू
  • कमला नेहरू
  • विजयलक्ष्मी पंडित
  • कस्तूरबा गांधी
  • सुचेता कृपलानी

Women female freedom fighters of India in Hindi language

More Information of women freedom fighters in Hindi-

रानी लक्ष्मीबाई-
स्वतंत्रता के लिए भारतीय संघर्ष सिर्फ एक आदमी का मामला नहीं था, जबकि इसमें पुरुषों के साथ साथ हजारों महिलाओं ने भी इस देश के गौरव को वापस लाने के लिए बहादुरी से लड़ाई लड़ी और रानी लक्ष्मी बाई का नाम इस सूची में अग्रणी है| स्त्री होते हुए भी जिसने एक पुरुष योद्धा की तरह युद्ध लड़ा, वह झांसी की रानी लक्ष्मी बाई थी। लक्ष्मीबाई झांसी के शाही राज्य पर अपने शासन को बचाने के लिए ब्रिटिश सेना से लड़ी थी और देश के लिए अपने प्राणो को न्योछावर कर दिया|

सरोजिनी नायडू-
कवि और सामाजिक कार्यकर्ता सरोजिनी नायडू ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम के दौरान महत्वपूर्ण योगदान दिया। आपके इन्ही कार्यों के कारन आपको ‘नाइटेंगल ऑफ़ इंडिया’ की उपाधि दी गयी| सरोजिनी नायडू एक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के गवर्नर के रूप में चुने जाने वाली पहली महिला थीं।

Share this with your friends--

Leave a Reply