The Mountbatten Plan 3 June 1947 in Hindi

  • 0

The Mountbatten Plan 3 June 1947 in Hindi

माउंटबेटन योजना क्या थी?

भारत की आजादी से कुछ समय पूर्व 24 मार्च 1947 ईस्वी को लॉर्ड माउंटबेटन को भारत का वायसराय नियुक्त किया गया था| इसी समय ब्रिटिश हुकूमत ने यह घोषणा की कि ब्रिटिश सरकार जून 1948 ईस्वी तक भारत की सत्ता को भारतीयों के हाथ में सौंप देगी|
3 जून सन 1947 ईस्वी को तत्कालीन वायसराय माउंटबेटन ने एक प्रस्ताव रखा और इस प्रस्ताव को इतिहास में माउंटबेटन योजना के नाम से जाना जाता है| माउंटबेटन योजना में यह प्रस्ताव रखा गया कि भारत को दो भागों में विभाजित किया जाए और इन दो अलग-अलग राज्यों का नाम भारतीय संघ एवं पाकिस्तान होगा| यह दोनों राज्य एक दूसरे से अलग अलग होंगे| इसके अलावा माउंटबेटन ने तत्कालीन भारतीय राजाओं के सामने यह विकल्प रखा कि वह अपना अपना भविष्य स्वयं तय करें| इन्हीं प्रस्तावों के बाद कश्मीर के तत्कालीन राजा हरि सिंह ने 26 अक्टूबर 1947 को भारत सरकार से अनुरोध किया कि उनका राज्य कश्मीर भारत के साथ सम्मिलित होना चाहता है और कश्मीर को भारत में मिला दिया जाए|

Share this with your friends--

Leave a Reply