Tatpurush Samas Examples in Hindi तत्पुरुष समास

  • 0

Tatpurush Samas Examples in Hindi तत्पुरुष समास

Category : Uncategorized

तत्पुरुष समास (Tatpurush Samas Definition in Hindi)-

जिस समास में अंतिम पद (उत्तर पद) की प्रधानता रहती है, उसे तत्पुरुष समास कहते हैं। तत्पुरुष समास को पहचानने का तरीका यह है कि दोनों पदों के बीच में कारक की विभक्ति लुप्त रहती है अर्थात दोनों पदों के बीच का कारक-चिह्न लुप्त हो जाता है।

Tatpurush Samas Examples in Hindi-

दानवीर- दान में वीर
राजपुत्र- राजा का पुत्र
पथभ्रष्ट- पथ से भ्रष्ट इत्यादि|

Tatpurush Samas Definition Examples in Hindi Language

तत्पुरुष समास के प्रकार-

तत्पुरुष समास में पहले पद की जो विभक्ति होती है, उसी विभक्ति के नाम पर तत्पुरुष समास का नामकरण होता है। विभक्तियों के नामों के अनुसार तत्पुरुष समास के छ: भेद हैं-

  1. कर्म तत्पुरुष
  2. करण तत्पुरुष
  3. सम्प्रदान तत्पुरुष
  4. अपादान तत्पुरुष
  5. सम्बन्ध तत्पुरुष
  6. अधिकरण तत्पुरुष

More Examples of Tatpurush Samas in Hindi-

तत्पुरुष समास उदाहरण-

  • ‘कर्म तत्पुरुष’ या ‘द्वितीया तत्पुरुष’– सुखप्राप्त-सुख को प्राप्त, गृहागत-गृह को आगत आदि।
  • ‘करण तत्पुरुष’ या ‘तृतीया तत्पुरुष’– करुणापूर्ण-करुणा से पूर्ण, अकालपीड़ित-अकाल से पीड़ित, कष्टसाध्य – कष्ट से साध्य इत्यादि|
  • ‘सम्प्रदान तत्पुरुष’ या ‘चतुर्थी तत्पुरुष’– पुत्रशोक-पुत्र के लिए शोक, गोशाला-गाय के लिए शाला आदि।
  • ‘अपादान तत्पुरुष’ या ‘पंचमी तत्पुरुष’–, धनहीन-धन से हीन, अन्नहीन-अन्न से हीन, दयाहीन-दया से हीन आदि।
  • ‘संबंध तत्पुरुष’ या ‘षष्ठी तत्पुरुष’– राजपुत्र-राजा का पुत्र, मदिरालय-मदिरा का आलय, विद्यार्थी-विद्या का अर्थी इत्यादि।
  • ‘अधिकरण तत्पुरुष’ या ‘सप्तमी तत्पुरुष’– कुलश्रेष्ठ-कुल में श्रेष्ठ, आनन्दमग्न-आनन्द में मग्न, प्रेममग्न-प्रेम में मग्न इत्यादि।

यह भी जानें-
(1) बहुव्रीहि समास Bahuvrihi Samas Examples in Hindi
(2) द्विगु समास Dvigu Samas Definition in Hindi
(3) अव्ययीभाव समास की जानकारी


Leave a Reply