सूर्य ग्रहण क्यों और कैसे होता है?

  • 0

सूर्य ग्रहण क्यों और कैसे होता है?

Surya Grahan kaise, kab aur kyu hota hai?

सूर्य ग्रहण का कारण क्या है? सूर्य ग्रहण के बारे में समझने वाला सबसे पहला और महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि सूर्य ग्रहण एक ब्रह्मांड संयोग की वजह से होते हैं जोकि एक सीमित क्षेत्र से ही दिखाई देता है। क्या आपने कभी सोचा है कि सूर्य और चंद्रमा हमें एक ही आकर के क्यों दिखते हैं जबकि सूर्य वास्तव में चंद्रमा की तुलना में लगभग 400 गुना बड़ा है? इसका उत्तर यह है कि चंद्रमा सूर्य के मुकाबले लगभग 400 गुना हमारी पृथ्वी के समीप है और इसलिए सूर्य और चंद्रमा हमारे आकाश में एक ही आकार के दिखाई देते हैं।

surya grahan kaise kab aur kyu hota hai in hindi

आइये जानते हैं कि सूर्य ग्रहण कब, कैसे और क्यों होता है?
सूर्य ग्रहण तब होता है जब सूर्य और पृथ्वी के बीच में चंद्रमा आ जाता है, जब चंद्रमा सूर्य और पृथ्वी के बीच आ जाता है तब वह पृथ्वी पर पड़ने वाली सूर्य की किरणों को अवरुद्ध करता है और पृथ्वी के कुछ भागों पर चंद्रमा कि परछाईं पड़ने लगती है जिसे हम सूर्य ग्रहण कहते हैं| चंद्रमा की छाया पूरी पृथ्वी पर एकसाथ नहीं पड़ सकती इसलिए सूर्य ग्रहण एक निश्चित क्षेत्र तक ही सीमित रहता है|


Leave a Reply