Nelson Mandela Biography in Hindi नेल्सन मंडेला

  • 0
Nelson Mandela Biography in Hindi

Nelson Mandela Biography in Hindi नेल्सन मंडेला

Nelson Mandela in Hindi

नेल्सन मंडेला दक्षिण अफ्रीका के सबसे महत्वपूर्ण नेता और महानतम राजनेताओं में से एक थे, उन्होंने 1994 से 1999 तक राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया था। उन्हें लगभग 50 वर्षों के संघर्ष के बाद शांतिपूर्वक दक्षिण अफ्रीका में नस्लीय अलगाव (रंगभेद) को समाप्त करने के लिए 1993 में शांति का नोबेल पुरस्कार दिया गया।

Nelson Mandela Biography in Hindi

नेल्सन मंडेला का जन्म 18 जुलाई 1918 को दक्षिण-पूर्वी दक्षिण अफ्रीका के ट्रांसकेई क्षेत्र के एक छोटे से गाँव म्वीज़ी में हुआ था।

उनकी मां का नाम नोनकापी नोसकेनी थीं और उनके पिता का नाम नाकोसी गडला मंडेला था| 1930 में, जब नेल्सन मंडेला की उम्र केवल 12 साल की थी तभी उनके पिता की मृत्यु हो गई|

Nelson Mandela Biography in Hindi

Nelson Mandela Education

उन्होंने Qunu में प्राथमिक विद्यालय में प्रारंभिक शिक्षा प्राप्त की थी| उन्होंने क्लार्कबुरी बोर्डिंग इंस्टीट्यूट में अपनी जूनियर स्तर की पढ़ाई को पूरा किया और इसके बाद वे हेडलडाउन के एक स्कूल में गए जहां से उन्होंने मैट्रिक की परीक्षा को उत्तीर्ण किया|
मंडेला ने फोर्ट हरे के यूनिवर्सिटी कॉलेज में बैचलर ऑफ आर्ट्स की डिग्री के लिए अपनी पढ़ाई शुरू की, लेकिन वहां वह अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पाए क्योंकि उन्हें एक विरोध में शामिल होने के लिए निष्कासित कर दिया गया था।

Nelson Mandela Information in Hindi

घर वापसी होने पर उन्हें कई तरह के सामाजिक दबाव को सामना करना पड़ा और वह 1941 में जोहानिसबर्ग भाग गए। वहां उन्होंने एक खदान सुरक्षा अधिकारी के रूप में काम किया।
उन्होंने अपनी स्नातक की पढ़ाई साउथ अफ्रीका विश्वविद्यालय से पूरी की।

इस बीच, उन्होंने एलएलबी के लिए अध्ययन शुरू किया। उनकी आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी और 1952 में बिना एलएलबी की पढ़ाई पूरा किए ही उन्होंने विश्वविद्यालय छोड़ दिया। इसके बाद पुनः उन्होंने उन्होंने 1962 में लंदन विश्वविद्यालय के माध्यम से फिर से अध्ययन शुरू किया, लेकिन उस डिग्री को भी वह पूरा नहीं कर पाए|

1989 में अपने कारावास के अंतिम महीनों में उन्होंने दक्षिण अफ्रीका विश्वविद्यालय के माध्यम से एलएलबी की डिग्री को प्राप्त किया।

नेल्सन मंडेला का विवाह

1944 में उन्होंने एवलिन मसे नाम की एक नर्स से शादी की। इस जोड़े को दो बेटे और दो बेटियां हुई| 1958 में उनका और उनकी पत्नी का तलाक हो गया।

नेल्सन मंडेला का राजनीति में प्रवेश

अपने पूर्वजों की वीरता की कहानियों को सुनकर, उन्होंने अपने लोगों के स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान देने का फैसला किया|

नेल्सन मंडेला 1942 से ही राजनीति में शामिल हुए थे परंतु उन्हें राजनीतिक पहचान तब मिली जब वे 1944 में अफ्रीकी राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए, उस समय उन्होंने ANC यूथ लीग (ANCYL) बनाने में मदद की।

नस्लीय भेदभाव के खिलाफ प्रदर्शन 1948 में शुरू हुए और मंडेला को पहली बार 1952 में गिरफ्तार किया गया। 1956 और 1961 के बीच, मंडेला पर देशद्रोह का मुकदमा चलाया गया, लेकिन बाद में उन्हें हटा दिया गया।

1960 में पुलिस बलों द्वारा अलगाववादी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले 69 लोगों को मार दिया गया था, इस नरसंहार को शार्पविले नरसंहार के नाम से जाना जाता है। इस दुखद घटना के मद्देनजर, सरकार ने एएनसी की घोषणा की। मंडेला पार्टी के भीतर एक सैन्य विंग बनाने की आवश्यकता पर विचार कर रहे थे।

नेल्सन मंडेला- 27 साल की कैद

मंडेला को 1962 में दूसरी बार बिना अधिकार के देश छोड़ने और प्रदर्शनों के लिए गिरफ्तार किया गया था। उन्हें 5 साल की जेल की सजा सुनाई गई थी। उनके अन्य साथी सदस्यों को अगले वर्ष गिरफ्तार किया गया। नेल्सन मंडेला के ऊपर सरकार को जबरन हटाने की साजिश रचने के मुकदमे चलाए गए थे| उन्हें 12 जून 1964 को आजीवन कारावास की सजा हुई थी और केप टाउन के तट से दूर रॉबर द्वीप में एक उच्च सुरक्षा वाली जेल में बंदी बनाकर रखा गया था|

नेल्सन मंडेला ने कई साल लगातार जेल में बिताए और उस समय उनकी प्रसिद्धि लगातार बढ़ती गई| जेल में बिताए गए दिनों के दौरान उनके सहयोगियों और उनकी प्रसिद्ध के कारण दक्षिण अफ्रीका की सरकार पर नस्लीय भेदभाव को खत्म करने पर दबाव बनने लगा| मंडेला को उनकी बीमारी के कारण 1988 में अस्पताल में भर्ती कराया गया| इसके बाद जब वह पुनः जेल गए तब उनकी हिरासत की शर्तों को काफी आसान कर दिया गया, हालांकि उन्होंने स्वतंत्रता के बदले किसी भी राजनीतिक समझौते से इनकार कर दिया| अंततः नेलसन मंडेला को अंतरराष्ट्रीय दबाव के कारण क्षमा दान दिया गया|

Back to public life

11 फरवरी 1990 को नेलसन मंडेला को रिहा कर दिया गया, उस समय उनकी उम्र 72 साल की थी| उस समय भी उनका एकमात्र उद्देश्य यही था कि वह रंगभेद की नीति को समाप्त करेंगे|
दक्षिण अफ्रीका में पहला लोकतांत्रिक चुनाव 1994 में हुआ और इस चुनाव में मंडेला की पार्टी ने 60% से भी अधिक वोट प्राप्त किए| नेलसन मंडेला को साउथ अफ्रीका का राष्ट्रपति चुना गया| उन्होंने देश में शांति और देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए कार्य किए, इसके अतिरिक्त उन्होंने किसी से भी प्रतिशोध की भावना व्यक्त नहीं की|

नेल्सन मंडेला ने 1999 में अपने राजनीतिक जीवन का त्याग किया और उनका निधन 5 दिसंबर 2013 को हुआ था|

Share this with your friends--

Leave a Reply