भारत के स्वतंत्रता सेनानी | Freedom fighters of India in Hindi

  • 1

भारत के स्वतंत्रता सेनानी | Freedom fighters of India in Hindi

भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी Information of Indian freedom fighters in Hindi Language-
भारत के प्राचीन काल के इतिहास में कोई राजनीतिक एकता या एकजुट ताकत नहीं थी, अतः भारत के राज्य और हिस्से किसी के नियंत्रण में नहीं होते थे, इसी बात का लाभ उठाकर कई विदेशी ताकतों ने भारत पर राज्य किया था, जिसमें मुग़ल काल के शासक और ब्रिटिश हुकूमत ने काफी लम्बे समय तक भारत पर राज्य किया था| जिस समय भारत में ब्रिटिश हुकूमत का राज था उस समय स्वतन्त्र भारत का सपना हर हिन्दुस्तानी के दिल में था| ब्रिटिश शासन के दौरान हर हिन्दुस्तानी ने किसी न किसी तरह से भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान दिया था और हम उन्हें भारतीय स्वतंत्रता सेनानी के रूप में जानते हैं| कई क्रांतियों, कई संघर्षों, रक्तदान, युद्ध और बलिदान के बाद, भारत ने अंततः 15 अगस्त 1947 को आजादी हासिल की थी, भारत के इतिहास में यह एक महत्वपूर्ण वर्ष था जब भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के विद्रोहों एवं सराहनीय कार्यों के कारण भारत को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी।

Role of the Freedom Fighters in Hindi-

जिस समय देश गुलामी की जंजीरों में जकड़ा हुआ था उस समय भारत के स्वतंत्रता सेनानियों ने देश के लिए स्वतंत्रता प्राप्त करने में एक व्यापक भूमिका निभाई थी| सन 1857 ईसवी में हुआ विद्रोह भारत की स्वतंत्रता की और बढ़ाया गया पहला कदम था इस विद्रोह के परिणामस्वरूप भारतीय जन मानस के मन में ब्रिटिश हुकूमत के प्रति पनप रहा गुस्सा बगावत के रूप में उभरकर सामने आया| इसी विद्रोह के परिणाम स्वरूप मुस्लिम और हिन्दू सिपाहियों ने मिलकर ब्रिटिश हुकूमत का बहिष्कार करना प्रारम्भ किया| प्रारब्ध में इस विद्रोह में रानी लक्ष्मीबाई, बहादुर शाह जफर, मंगल पांडे, नाना साहिब और तात्या टोपे जैसे कुछ सक्रिय नेता और स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने विद्रोह में भाग लिया था| 1857 का विद्रोह प्रमुख रूप से सिपाहियों के इर्द गिर्द केंद्रित था अतः इसमें भारत के आम नागरिकों ने पूरी तरह से अपना समर्थन नहीं दिया था|

List of Freedom fighters of India

मंगल पांडेरानी लक्ष्मीबाई
विनायक दामोदर सावरकरतात्या टोपे
ख़ान अब्दुल ग़फ़्फ़ार ख़ानअशफ़ाक़ुल्लाह ख़ाँ
बेगम हज़रत महलखुदीराम बोस
लक्ष्मी सहगललाला हरदयाल
सरदार वल्लभ भाई पटेलअरुणा आसफ़ अली
महादेव गोविंद रानाडेमहात्मा गांधी
राममनोहर लोहियारास बिहारी बोस
अबुल कलाम आज़ादराम प्रसाद बिस्मिल
मोतीलाल नेहरूराम सिंह कुका
भगत सिंहराजगुरु
सुखदेवसुभाष चन्द्र बोस
बाल गंगाधर तिलकचित्तरंजन दास
विपिनचंद्र पालजवाहरलाल नेहरू
चन्द्रशेखर आजादश्री अल्लूरी सीतारामा राजू
सुरेंद्रनाथ बैनर्जीभीम सेन सचार
दादा भाई नौरोजीलाला लाजपत राय
आचार्य कृपलानीमदनमोहन मालवीय
जतिंद्रा मोहन सेनगुप्ता

 

list of 1857 freedom fighters of India in Hindi language

More Information of Indian freedom fighters in Hindi language

Mangal Pandey-
मंगल पांडे ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना में सैनिक के पद पर कार्यरत थे| वह भारत के प्रथम स्वतंत्रता सेनानी (First Freedom Fighter of India) के रूप में भी जाने जाते हैं| सन 1857 में जब सैनिकों को यह पता चला कि उनको दिए जाने वाले कारतूसों में गाय एवं सूअर की चर्बी का उपयोग होता है, तब मंगल पांडे ने ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ विद्रोह का आरंभ कर दिया| मंगल पांडे ने भारत की आजादी के लिए कई सारे प्रयास एवं विद्रोह किए, और इन्हीं विद्रोहों के कारण उन्हें 1857 में फांसी पर चढ़ा दिया गया|

Bahadur Shah Zafar-
भारत के आखिरी मुगल सम्राट बहादुर शाह जफर एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे। वह सिपाही के नेता थे और ईस्ट इंडिया कंपनी के खिलाफ हुए सिपाही विद्रोह में अपनी सेना का नेतृत्व किया था।

BHAGAT SINGH-
जब ब्रिटिश सरकार ने दो विधेयकों “ट्रेड यूनियन विवाद विधेयक” और “लोक सुरक्षा विधेयक” को प्रारम्भ किया तब भगत सिंह और उनकी पार्टी का मानना था कि ये विधेयक नागरिकों की आजादी और नागरिक स्वतंत्रता को रोकने के उद्देश्य लागू किये गए हैं| उन्होंने Central Assembly Hall में बम फेंक कर इन बिलों का विरोध करने का निर्णय लिया| जिस कारणवश 8 अप्रैल, 1929 को अंग्रेजों ने भगत सिंह और उनके दोस्तों को गिरफ्तार कर लिया। 23 मार्च, 1931 को भगत सिंह, राजगुरू और सुखदेव को फांसी की सजा सुनाई गई।

SUBHASH CHANDRA BOSE-
सुभाष चंद्र बोस, जिन्हे हम नेताजी के नाम से भी जानते हैं, ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के सबसे प्रमुख नेताओं में से एक थे। 1920 में, बोस ने भारतीय सिविल सेवा की प्रवेश परीक्षा में सम्मिलित हुए और उन्हें दूसरा स्थान परैत हुआ। हालांकि, उन्होंने मेरिट सूची में अपनी रैंकिंग के बावजूद अप्रैल 1921 में प्रतिष्ठित भारतीय नागरिक सेवा के पद से इस्तीफा दे दिया और भारत की स्वतंत्रता आंदोलन के एक सक्रिय सेनानी बनने के लिए आगे बढे। सुभाष चंद्र बोसे की पूरी जीवनी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 👉 SUBHASH CHANDRA BOSE HISTORY IN HINDI

Mahatma Gandhi-
राष्ट्रपिता मोहनदास करमचंद गांधी एक प्रतिष्ठित व्यक्ति, कुशल वक्ता, एवं भारतीय स्वतंत्रता संग्राम सेनानी (Freedom Fighters of India) थे। उन्होंने भारत को अंग्रेजो से मुक्ति दिलाने और भारत को एक स्वतंत्र देश बनाने के लिए अपना सब कुछ छोड़ दिया। देश में उनके अनगिनत योगदान में गरीबी कम करने, महिलाओं के अधिकारों के विस्तार, अस्पृश्यता को समाप्त करने और समाज के हर वर्ग को ऊपर लाने के प्रयास शामिल हैं| गांधी जी के नेतृत्व में दांडी यात्रा, भारत छोड़ो आंदोलन, असहयोग आंदोलन एवं कई सत्याग्रह शामिल थे। गांधी जी की पूरी जीवनी पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें 👉 Mahatma Gandhi Biography in Hindi

Share this with your friends--

1 Comment

Anonymous

August 29, 2017 at 5:02 pm

Visitor Rating: 4 Stars

ephraim.p.samuel

October 10, 2017 at 7:49 pm

Our great freedom fighters of India. W are so proud of them because they struggled a lot for our country and saving. We sulte you.
“Jai Hind”.

Anonymous

October 16, 2017 at 2:35 pm

Visitor Rating: 5 Stars

Leave a Reply