Indicator meaning in Hindi सूचक क्या होते हैं?

  • 0

Indicator meaning in Hindi सूचक क्या होते हैं?

Indicator meaning in Hindi-

इंडिकेटर को हम “सूचक” के नाम से जानते हैं| सूचक वह रंजक (Dye) होते हैं जो किसी अम्ल क्षार के संपर्क में आने पर अपना रंग परिवर्तन कर लेते हैं अर्थात सूचकों का अम्ल तथा क्षारीय माध्यमों में रंग भिन्न भिन्न होता है|

सूचक क्या होते हैं?

वह पदार्थ जो स्वयं के रंग में परिवर्तन करके यह बतलाते हैं कि उदासीनीकरण की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है या नहीं सूचक कहलाते हैं| पदार्थों का अम्लीय एवं क्षारीय माध्यम में रंग अलग अलग होता है|

सूचकों के उदाहरण-
फिनोल्फतेलीन, मैथिल ऑरेंज, लिटमस पेपर इत्यादि सूचकों के उदाहरण हैं|

अम्ल क्षार सूचक क्या होते हैं?

Acids and Bases Indicators in Hindi-

ओस्टवाल्ड सिद्धांत के अनुसार अम्ल क्षार सूचक दुर्बल कार्बनिक अम्ल दुर्बल कार्बनिक क्षार होते हैं| किसी बिलियन में इनकी आयनित एवं अनआयनित अवस्था के रंग में भिन्नता होती है| रंगों की यह भिन्नता सूचकों की आयनित एवं अनआयनित अवस्था के सांद्रण का अनुपात होती है और सांद्रण का यह अनुपात हाइड्रोजन आयन [H+] की सांद्रता पर निर्भर करता है|

क्विनोनायड सिद्धांत के अनुसार अम्ल क्षार सूचक दो चलवायवी ( क्विनोनायड एवं बेंजेनॉयड ) का मिश्रण होते हैं| इन दोनों रूपों के रंग भिन्न-भिन्न होते हैं| इनमें से एक रूप अम्लीय माध्यम तथा दूसरा रूप क्षारीय माध्यम में अधिक अनुपात में होता है| अतः विलियन का pH मान एक सीमा से अधिक परिवर्तित होने पर इन रूपों का रंग आपस में परिवर्तित हो जाता है जिससे विलयन का रंग भी परिवर्तित हो जाता है|

Share this with your friends--

Leave a Reply