BTC Second Semester Social Science Paper

  • 0

BTC Second Semester Social Science Paper

बीटीसी (B.T.C) के द्वितीय सेमेस्टर (BTC 2nd Semester) में सामाजिक विज्ञान (Social Science) का पेपर 50 अंको का होता है| इस प्रश्न पत्र में बहुविकल्पीय, अति लघु उत्तरीय एवं लघु उत्तरीय प्रश्न पूछे जाते हैं|
Social science के second semester के paper में 15 बहुविकल्पीय प्रश्न, 15 अति लघु उत्तरीय प्रश्न तथा 10 लघु उत्तरीय प्रश्न पूछे जाते हैं|

BTC Second 2nd Semester Social Science Paper अतिलघु प्रश्नोत्तर

अति लघु उत्तरीय प्रश्न 1 नंबर के होते हैं| इनका उत्तर प्रायः एक या दो लाइन का होता है बीटीसी द्वितीय के सामाजिक विज्ञान (BTC 2nd Semester Social Science Paper) में पूछे जाने वाले अति लघु उत्तरीय प्रश्नों का संग्रह निम्नलिखित है-

Q – चंद्रगुप्त मौर्य का जन्म कब हुआ था ?
A- चंद्रगुप्त मौर्य का जन्म लगभग 345 ईसवी पूर्व में मोरिय अथवा मौर्य वंश के क्षत्रिय कुल में हुआ था|

Q- चंद्रगुप्त मौर्य के राज्य का सीमा विस्तार कहां से कहां तक था?
A- चंद्रगुप्त मौर्य का साम्राज्य पश्चिम के हिंदुकुश पर्वत से लेकर पूर्व में बंगाल की खाड़ी तक तथा उत्तर में हिमालय से लेकर दक्षिण में मैसूर तक विस्तृत था|

Q- चंद्रगुप्त के विषय में जानने का मुख्य स्रोत क्या है ?
A- चंद्रगुप्त के विषय में जानने का मुख्य स्रोत कौटिल्य का “ अर्थशास्त्र “ तथा मेगास्थनीज की “ इंडिका” ग्रंथ है|

Q- चंद्रगुप्त ने पंजाब पर पूर्ण अधिकार किस वर्ष स्थापित किया?
A- चंद्रगुप्त ने 316 ईसापूर्व में संपूर्ण पंजाब पर अपना आधिपत्य स्थापित कर लिया|

Q- चंद्रगुप्त मगध के सिंहासन पर कब बैठा ?
A- 321 पूर्व मैं चंद्रगुप्त मगध के सिंहासन पर बैठा |

Q- सेल्यूकस में भारत पर आक्रमण कब किया?
A- 305 ईसवी पूर्व में सेल्यूकस ने भारत पर आक्रमण कर दिया|

Q- मेगास्थनीज के अनुसार भारत का सबसे बड़ा नगर कौन सा था?
A- पाटिल पुत्र|

Q- मौर्य शासन में सेना का संगठन करने वाला मंडल में सदस्य की संख्या कितनी थी?
A- 30 सदस्य|

Q- मौर्य शासन में नगर के न्यायाधीश तथा जनपदों के न्यायाधीश को क्या कहा जाता था?
A – नगरों के न्यायाधीश “ व्यवहारिक महामात्र” और जनपदों के न्यायाधीश “ राजुक” कहलाते थे|

Q- भूमि कर एकत्र करने वाले अधिकारी को क्या कहा जाता था?
A- अग्रिम|

Q- मौर्य शासन में “ तीर्थ” क्या था?
A- शासन की सुविधा के लिए केंद्रीय शासन कई विभागों में विभक्त था जिन्हें तीर्थ कहते थे|

Q- बिंदुसार को और किस नाम से जाना जाता था|
A- अमित्र [शत्रुओं का संहारक]|

Q- अशोक का धर्म के सिद्धांत का अनुमोदक करता था?
A- अशोक का धम्म ‘ वसुधैव कुटुंबकम” के सिद्धांत का अनुमोदन करता था|

Q- मौर्य काल में समाज कितने वर्गों में विभक्त था?
A- समाचार वर्गों में विभक्त था – ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य, शूद्र|

Q- मौर्य काल में शिक्षा का प्रमुख केंद्र था?
A- तक्षशिला|

Q- मौर्य काल के पतन का मुख्य कारण क्या था?
A- अशोक के बाद कोई योग्य उत्तराधिकारी ना होना|

Q- मौर्य प्रशासन में जनगणना समिति क्या कार्य करती थी?
A- जन्म- मरण का हिसाब रखना|

Q- गुप्त साम्राज्य की स्थापना कब व किसके द्वारा की गई?
A- गुप्त साम्राज्य की स्थापना आदिराज महाराज गुप्त 275 ईस्वी में की गई थी|

Q- सर्वप्रथम “ महाराजाधिराज” की उपाधि किसने धारण की थी?
A- सर्वप्रथम “ महाराजाधिराज” की उपाधि चंद्रगुप्त प्रथम ने धारण की थी|

Q- गुप्त संवत का प्रचलन किसने व कब किया?
A- चंद्रगुप्त प्रथम ने319-20 में गुप्त संवत का प्रचलन किया|

Q- महाकवि हरिषेण कौन था?
A- महाकवि हरिषेण समुद्रगुप्त का मंत्री एवं दरबारी था|

Q- समुद्रगुप्त को “ भारतीय नेपोलियन” क्यों कहा जाता है?
A- समुद्रगुप्त महान विजेता होने के साथ ही एक निपुण सेनानायक था| इसलिए उसे भारत का नेपोलियन कहा जाता था|

Q- गुप्त काल के दो प्रसिद्ध वैज्ञानिक कौन थे?
A- आर्यभट्ट, वराह मिहिर|

Q- गुप्त काल के दो प्रसिद्ध साहित्यकारों के नाम लिखिए?
A- कालिदास, विष्णु शर्मा|

Q- चंद्रगुप्त विक्रम मित्र के शासन में भूमि कर वसूलने वाले अधिकारी को क्या कहा जाता था?
A- शाल्कीक|

Q- हूणों ने भारत पर आक्रमण किस शासक के काल में किया था?
A- कुमारगुप्त|

Q- गुप्त साम्राज्य का अंतिम और अयोग्य शासक कौन था?
A- पुरुगुप्त |

Q- चीनी यात्री फाह्यान किसके शासनकाल में भारत भ्रमण पर आया था?
A- चंद्रगुप्त विक्रम मित्र के शासनकाल में|

Q- चीनी यात्री फाह्यान का वास्तविक नाम क्या था?
A- कुंग|

Q- फाह्यान का क्या अर्थ है?
A- फाह्यान का अर्थ है – धर्म गुरु या धर्म रक्षक|

Q- गुप्त वंश का अंतिम योग्य शासक कौन था?
A- स्कंद गुप्त विक्रमादित्य|

Q- हूण आक्रमणकारी कौन थे?
A- हूण लोग मध्य एशिया के खानाबदोश जंगलियों के समूह थे|

Q- पुष्यभूति वंश का प्रथम प्रभावशाली शासक कौन था?
A- हर्षवर्धन|

Q- हर्ष के शासनकाल में प्रांतों को क्या कहा जाता था?
A- भुक्ति |

Q- हर्ष के समय के किन्हीं दो विद्वानों के नाम बताइए?
A- बाणभट्ट, दिवाकर|

Q- प्राचीन ग्रंथ राजतरंगिणी में कितने राजपूत कुल का लेख है?
A- राजतरंगिणी में 36 राजपूतों का लेख है|

Q- चंदेलों की राजधानी का क्या नाम था?
A- खुजराहो|

Q- परमार वंश का प्रथम स्वतंत्र शासक कौन था?
A- सियाक अथवा श्रीहर्ष|

Q- गहड़वालों का सर्वाधिक योग्य एवं शक्तिशाली शासक कौन था?
A- गोविंद चंद्र [1114-1115]

Q- जयचंद किस युद्ध में पराजित हुआ था?
A- चंदावर के युद्ध में|

Q- अवंति सुंदरी कौन थी?
A- अवंतिसुंदरी एक विदुषी महिला थी|

Q- चेदि राज वंश का प्रथम शासक कौन था?
A- इस वंश का प्रथम शासक को कोक्कल प्रथम था|

Q- चालुक्य अथवा सोलंकी वंश की राजधानी क्या थी?
A- इनकी राजधानी अहिन्लवाड़ा मेथी|

Q- प्रतिहार वंश की स्थापना किसने की थी?
A- प्रतिहार वंश की स्थापना हरिश्चंद्र ने की, किंतु वास्तविक प्रथम राजा नागभट्ट प्रथम था|

Q- चहमान वंश का सबसे प्रसिद्ध अंतिम शासक कौन था?
A- पृथ्वीराज तृतीय [1179-1193]

Q- पाल राजवंश का प्रथम राजा कौन था?
A- धर्मपाल [770-810]

Q- राजपूत काल में राज्य की आय का प्रमुख स्रोत क्या था?
A- राज्य की आय का प्रमुख स्रोत भूमि कर था|

Q- राजपूत काल में जनता की जीविका का मुख्य साधन क्या था?
A- कृषि|

Q- राजपूत काल में कौन -कौन से धर्म प्रचलित थे?
A- ब्राह्मण तथा जैन धर्म|

Q- राजपूत कालीन रचित “ नव सहसंक चरित” तथा “ दशरूपक” के रचयिताओं के नाम लिखिए?
A- राजपूत कालीन रचित “ नव सहसंक चरित” के रचयिता पद्म गुप्त तथा “ दशरूपक’ के रचयिता धनंजय थे|

Q- राजपूत कालीन कला एवं स्थापत्य शैलियां कौन- कौन-कौन थी ?
A- नागर, द्रविड़ और वेसर |

Q- चालुक्य वंश की कितनी शाखाएं थी?
A- तीन शाखाएं –
1 – कल्याणी के चालुक्य 2- वातापी के चालुक्य 3- वेंगी के चालुक्य|

Q- “ कविराज मार्ग” तथा “ रत्नमालिका” किसके द्वारा लिखित कृति है?
A- “ कविराज मार्ग” अमोघवर्ष प्रथम द्वारा तथा “ रत्नमालिका” जिनसेन द्वारा लिखित कृति है|

Q- ऐहोल का विष्णु मंदिर किसने बनाया था?
A- सीहोर का विष्णु मंदिर वातापी के चालुक्य ने बनवाया था|

Q- पुलकेशिन द्वितीय ने कौन- सी उपाधि धारण की थी?
A- पुलकेशिन द्वितीय ने “ पृथ्वी वल्लभ सत्याश्रय” की उपाधि धारण की

Q- हर्षवर्धन को किस चालुक्य नरेश ने पराजित किया था?
A- हर्षवर्धन को पुलकेशिन द्वितीय पराजित किया था|

Q- राष्ट्रकुल वंश के प्रमुख शासकों के नाम लिखिए?
A- कृष्ण प्रथम, ध्रुव धारा वर्ष, गोविंद द्वितीय, अमोघवर्ष आदि|

Q- चोल वंश के चार प्रमुख शासकों के नाम लिखिए?
A- आदित्य प्रथम, राजराज प्रथम, राजेंद्र द्वितीय, कोलोतुंग आदि|

Q-

Share this with your friends--

Leave a Reply