Bharat Ki Pramukh Nadiya, Jheelen

  • 0

Bharat Ki Pramukh Nadiya, Jheelen

जैसा की हम सभी जानते हैं कि भारत में अनेकों नदियाँ हैं और इन नदियों का भारतीयों के जीवन पर गहरा प्रभाव है| कुछ नदियों को भारत में जीवनदायिनी एवं मोक्षदायिनी कहा जाता है, जबकि कुछ नदियों को शोक के तौर पर भी जाना जाता है| भारत में कृषि कार्य के लिए जरूरी जल की आपूर्ति में भारतीय नदियाँ एवं झीलें बहुत ही अहम व महत्वपूर्ण हैं, भारत में अधिकतर पीने के पानी की व्यवस्था भी इन्हीं नदियों एवं झीलों से होती है| नदियों से निकालकर कई नहरें देश के सुदूर इलाकों तक पहुंचाई गई हैं, जिनसे कृषि कार्य में काफी लाभ मिलता है|

भारत की प्रमुख नदियाँ –

भारत की प्रमुख नदियां (Bharat Ki Pramukh Nadiya) निम्नलिखित हैं-

सिंधु नदी- इस नदी का उद्गम स्थल तिब्बत (चीन) में मानसरोवर झील के पास स्थित सानोख्वाब हिमनद से है, इस नदी की कुल लंबाई 2880 किलोमीटर है तथा भारत में इस नदी की लंबाई लगभग 709 किलोमीटर है| यह नदी अंत में पाकिस्तान से होती हुई अरब सागर में विलीन हो जाती है|
सतलज नदी- सतलज नदी का उद्गम स्थल मानसरोवर झील के समीप स्थित राकस ताल में है|
व्यास नदी- इस नदी का उद्गम स्थल रोहतांग दर्रे के समीप स्थित है|
झेलम नदी- झेलम नदी का उद्गम स्थल बेरनाग (जो कि कश्मीर में स्थित है) के समीप शेषनाग झील में है|
रावी नदी का उद्गम स्थल कांगड़ा जिले में रोहतांग दर्रे के समीप है|
चिनाब नदी का उद्गम स्थल बारालाचा दर्रा (लोहाल-स्पीति) में स्थित है|

भारत के प्रमुख बंदरगाह के बारे में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

गंगा नदी- भारत में बहने वाली नदियों में गंगा सबसे लंबी नदी है और भारत में प्रवाहित होने वाली नदियों की कुल लंबाई के आधार पर ब्रह्मपुत्र सबसे लंबी नदी है| गंगा नदी की कुल लंबाई लगभग 2525 किलोमीटर है, गंगा नदी अपना नाम ‘गंगा’ देवप्रयाग में प्राप्त करती है, जहां भागीरथी (उद्गम स्थल- गंगोत्री) अलकनंदा (उद्गम स्थल- बद्रीनाथ) से मिलती है| जबकि इससे पहले अलकनंदा, रुद्रप्रयाग में मंदाकिनी (उद्गम स्थल- केदारनाथ) से मिलती है| गंगा की प्रमुख सहायक नदियों में यमुना, घाघरा, चंबल, गंडक, कोसी, सोन एवं बेतवा नदी शामिल है|

यह भी जानें उत्तर प्रदेश की प्रमुख नदियाँ

Bharat Ki Pramukh Nadiya  Jheelen

भारत की प्रमुख झीलें –

भारत की महत्वपूर्ण झीलों (Bharat ki Pramukh Jheel) के नाम निम्नलिखित हैं-

चिल्का झील- यह झील भारत की सबसे बड़ी झील है जोकि भारत के राज्य ओडिशा में स्थित है|
लोनार झील- यह झील ज्वालामुखी क्रिया से निर्मित है और यह महाराष्ट्र में स्थित है|
☑ भारत में मानव निर्मित सबसे बड़ी झील का नाम इंदिरा सागर है, यह झील ओंकारेश्वर महेश्वर तथा सरदार सरोवर बांध परियोजना (गुजरात – मध्यप्रदेश) का जलाशय हैं|
वूलर झील को हम मीठे पानी की झील के नाम से जानते हैं और यह मीठे पानी की सबसे बड़ी झील है|

भारत के प्रमुख धर्म के बारे में पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

☑ भारत की सबसे ऊंची हिमानी निर्मित झील को हम देवताल झील के नाम से जानते हैं, यह गढ़वाल हिमालय में स्थित है|
सांभर झील, जो कि राजस्थान में स्थित है, से नमक का औद्योगिक उत्पादन किया जाता है|
हुसैन सागर झील आंध्र प्रदेश में स्थित है|
डीडवाना झील राजस्थान में स्थित है|
डल झील जम्मू एवं कश्मीर की प्रसिद्ध झीलों में से एक है|
मानसरोवर तथा शेषनाग झील जम्मू एवं कश्मीर राज्य में स्थित है|
कोलेरू झील आंध्रप्रदेश राज्य में स्थित है|
पुलिकट झील तमिलनाडु राज्य में स्थित है|

Share this with your friends--

Leave a Reply