Bachendri Pal Biography in Hindi बछेंद्री पाल

  • 0
Bachendri Pal Biography in Hindi

Bachendri Pal Biography in Hindi बछेंद्री पाल

बछेंद्री पाल एक पर्वतारोही हैं और माउंट एवरेस्ट की चोटी पर पहुंचने वाली पहली भारतीय महिला हैं।
उनका जन्म 24 मई, 1954 को हुआ था। बछेन्द्री पाल का जन्म गढ़वाल के नकुरी नामक गाँव में श्री किशन सिंह पाल और श्रीमती हंसा देवी के यहाँ हुआ था।
Bachendri Pal Biography in Hindi
बछेंद्री पाल बचपन से ही बहुत उत्साही और साहसिक थी| वह पढ़ाई के साथ साथ खेल में भी रुचि रखती थी| बछेंद्री पाल के परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत अच्छी नहीं हुआ करती थी और वह पढ़ाई, खेल के अतिरिक्त अपने घर के कामों में अपने माता-पिता का साथ देती थी| वह पढ़ने में बहुत ही कुशाग्र थी और उनके प्रिंसिपल ने उनको आगे की पढ़ाई के लिए प्रेरित किया| बछेंद्री पाल अपने गाँव से स्नातक करने वाली पहली लड़की बनी। आगे चलकर उन्होंने M.A. और B.Ed की डिग्री प्राप्त की|
Bachendri Pal Biography in Hindi
जब बछेंद्री केवल 12 वर्ष की थी तब उन्होंने पहली बार अपने स्कूल के दोस्तों के साथ पर्वतारोहण की कोशिश की थी। साहसिक कार्य के लिए अपने जुनून से प्रेरित होकर उन्होंने नेहरू इंस्टीट्यूट ऑफ माउंटेनियरिंग में दाखिला लिया था|
Bachendri Pal Essay in Hindi
उन्हें 1984 में माउंट एवरेस्ट अभियान के लिए भारत की पहली पुरुष- महिला टीम में चुना गया था| इस टीम ने मई, 1984 में माउंट एवरेस्ट के अभियान को शुरू किया| और इस अभियान में कई तरह की रुकावटें आई परंतु यह अभियान रुका नहीं| एक समय ऐसा आया जब बहुत बड़ा हिमस्खलन ने इस टीम को एकदम से झकझोर कर रख दिया था| और ऐसा लग रहा था कि इस टीम के सारे सदस्य इस अभियान को पूरा नहीं कर पाएंगे| बचेंद्री पाल ने अपनी बुक में लिखा है कि उस समय वह हनुमान चालीसा का पाठ कर रही थी और भगवान से यही प्रार्थना कर रही थी कि वह और उनके सभी साथी सकुशल यहां से इस अभियान को पूरा करें| चढ़ाई को जारी रखने वाली वह अपनी टीम की एकमात्र महिला थीं और वह 23 मई को दोपहर 1:07 बजे शिखर पर पहुंची|
वर्ष 1990 में, माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली पहली भारतीय महिला पर्वतारोही के रूप में उनकी उपलब्धि के लिए उन्हें गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल किया गया था।
उन्हें पद्म श्री और अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया था|
2013 में बाढ़ के दौरान, उन्होंने अन्य पर्वतारोहियों के साथ- साथ लोगों के समूहों को बचाया और अन्य राहत और बचाव कार्य भी किए।
Biography of Bachendri Pal in Hindi,

Share this with your friends--

Leave a Reply