असीरिया की सभ्यता

  • 0

असीरिया की सभ्यता

हम्मूराबी के मृत्यु के उपरांत बेबीलोनिया का साम्राज्य कमजोर हो गया जिसके परिणाम स्वरुप असीरिया के लोगों ने बेबीलोन के क्षेत्र पर आक्रमण किया और बेबीलोन के क्षेत्रों पर अपना अधिकार कर लिया| असीरिया के लोग किसी बाहरी जाति या समूह से संबंधित नहीं थे बल्कि वे मेसोपोटामिया के ही रहने वाले थे| उनके राज्य में असुर नामक नगर के कारण वे असीरियन कहलाए| असीरिया का सबसे प्रसिद्ध शासक असीरि बेनीपाल था|

सामाजिक जीवन-

असीरिया का समाज तीन वर्गों में विभाजित था- उच्च वर्ग, मध्यम वर्ग एवं निम्न वर्ग|
उच्च वर्ग में पुरोहित व सामंतों का स्थान हुआ करता था| मध्यम वर्ग में व्यापारी एवं कृषक लोगों का स्थान था तथा निम्न वर्ग में दास लोग आते थे|

असीरिया की सभ्यता की राजनीतिक स्थिति-

असीरियन सभ्यता की राजधानी निनेवे थी,यह राजधानी दजला नदी के किनारे स्थित थी| असीरिया की सभ्यता में राजा को ईश्वर का प्रतिनिधि माना जाता था|

आर्थिक जीवन-

बेबीलोनिया की सभ्यता की भांति असीरिया की सभ्यता भी कृषि पर आधारित थी और इस सभ्यता के लोगों का मुख्य व्यवसाय खेती करना ही था| असीरिया की सभ्यता के लोगों ने लोहे का प्रयोग करना प्रारंभ कर दिया था, इतिहासकारों के मतानुसार असीरिया के लोग लोहे के औजार बनाने वाले प्रथम लोग थे|

assyria ki sabhyata

धार्मिक जीवन-

इतिहासकारों के मतानुसार असीरिया की सभ्यता के लोग असुर, मर्दुक व इश्तर की पूजा करते थे|

यह भी जाने मेसोपोटामिया की सभ्यता

विज्ञान एवं साहित्य-

असीरिया के सभ्यता के लोगों ने वैज्ञानिक दृष्टिकोण से सर्वाधिक उन्नति की थी| इस सभ्यता के लोगों को औषधियों का ज्ञान बेबिलोनिया से प्राप्त हुआ था, और उन्होंने औषधियों के क्षेत्र में काफी विकास प्राप्त किया| इस सभ्यता के लोग खगोल शास्त्र के भी ज्ञाता थे इसके साथ ही साथ उन्हें वनस्पति विज्ञान का भी ज्ञान था| उन्होंने ऐसे पौधों की सूची बनाई थी जिसका उपयोग वह औषधियों के निर्माण में करते थे|

यह भी जाने —
सिंधु घाटी की सभ्यता
चीन की सभ्यता
सुमेरिया की सभ्यता

Share this with your friends--

Leave a Reply