जैन धर्म के तीर्थंकर

  • 0

जैन धर्म के तीर्थंकर

जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर एवं संस्थापक ऋषभदेव थे| ऋषभदेव का जन्म कब और किस समय हुआ था इसके बारे में जानकारी उपलब्ध नहीं है और इस विषय में केवल अनुमान ही लगाया जा सकता है| जैन लोगों एवं जैन ग्रंथों के अनुसार ऋषभदेव का जन्म इक्ष्वाक भूमि (अयोध्या) में हुआ था| ऐसा माना जाता है कि ऋषभदेव का जन्म एक राज्य परिवार में हुआ था और उन्होंने कई वर्षों तक शासन कार्य किया था| अंत में उन्होंने अपने राज्य को अपने उत्तराधिकारी को शॉप पर सन्यास ग्रहण कर लिया था| सन्यास ग्रहण करने के उपरांत ऋषभदेव ने अट्ठावय ( कैलाश) पर्वत पर उन्होंने अत्यधिक कठिन तपस्या की और तपस्या करते हुए ही उन्होंने अपने प्राण त्याग दिए| ऋषभदेव जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर थे और उन्होंने अपनी शिक्षाओं में शुद्ध आचरण, पावन चरित्र एवं शुद्ध मन पर बल दिया था

जैन धर्म के चौबीस तीर्थंकरों के नाम-

24 Tirthankar Names in Hindi-
जैन धर्म अत्यंत प्राचीन धर्म है, महावीर स्वामी इस धर्म के 24वें तीर्थंकर थे| महावीर स्वामी से पहले जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर हो चुके थे| जैन धर्म के चौबीस तीर्थंकरों के नाम निम्नलिखित हैं-

1ऋषभदेव
2अजित नाथ
3संभव नाथ
4अभिनंदन
5सुमतिनाथ
6पद्मप्रभु
7सुपार्श्वनाथ
8चंद्रप्रभु
9सुविधिनाथ
10शीतलनाथ
11श्रेयांशनाथ
12वासुपूज्य
13विमलनाथ
14अनंतनाथ
15धर्मनाथ
16शांतिनाथ
17कुन्थुनाथ
18अरनाथ
19मल्लिनाथ
20मुनिसुव्रतनाथ
21नमिनाथ
22नेमिनाथ
23पार्श्वनाथ
24महावीर स्वामी
Share this with your friends--

Leave a Reply