Essay on Diwali in Hindi | दिवाली पर निबंध

  • 0

Essay on Diwali in Hindi | दिवाली पर निबंध

दीपावली पर निबंध-

Diwali Essay in Hindi- दीपावली (Diwali) का शाब्दिक अर्थ “दीपों की पंक्ति” होता है| दीपावली को दिवाली के नाम से भी जाना जाता है और दिवाली का पर्व प्रत्येक वर्ष कार्तिक मास (महीने) की अमावस्या के दिन बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है| यह पर्व मुख्यतः हिंदू समाज में मनाया जाता है और इस दिन संपूर्ण घर को दीपों से सजाया जाता है, इसीलिए इस त्योहार को हम दीपावली के नाम से जानते हैं| दीवाली की रात एक साथ असंख्य दीपक जगमगाते हुए संपूर्ण वातावरण को प्रकाशित करते हैं| प्रत्येक घर में लक्ष्मी-गणेश जी की पूजा होती है| इस दिन लोग अपने आपसी मतभेद को भुलाकर एक दूसरे के घर जाते हैं और मिठाइयों का आदान प्रदान करते हैं, साथ ही साथ पटाखों का भी आनंद लेते हैं| बड़ों के साथ-साथ दिवाली का त्यौहार बच्चों के लिए अनेकों खुशियां लाता है और यह पर्व बच्चों के लिए काफी मनोरंजक होता है| बच्चे रंग बिरंगे कपड़ों को पहन कर फुलझड़ियां एवं पटाखे छुड़ाते हैं| क्योंकि इस दिन लक्ष्मी गणेश जी की पूजा होती है तो लोग अपने-अपने घरों एवं दुकानों की साफ सफाई करते हैं एवं उन्हें नया रंग प्रदान करके मनमोहक बनाते हैं|

प्रदूषण पर निबंध पढ़ने के लिए क्लिक करें 👉 Essay on Pollution in Hindi Language

दिवाली का पौराणिक महत्व-

हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार जब भगवान राम ने रावण का वध किया था तो लंका विजय के बाद उन्हें अयोध्या पहुंचने में 20 दिन का समय लगा था, पर जिस दिन रामचंद्र जी अयोध्या पहुंचे थे उस दिन वहां पर उनका राज्याभिषेक किया गया था और वहां के लोगों ने इस उपलक्ष्य में दीपक को जलाकर खुशियां मनाई जाएगी और तभी से दिवाली का प्रारंभ माना जाता है| परंतु इस संदर्भ में कुछ विद्वानों में मतभेद है और कुछ विद्वान दीपावली के त्योहार को इस से भी अधिक प्राचीन मानते हैं और दिवाली के पर्व का संबंध मां काली द्वारा किए गए रक्तबीज के संहार को मानते हैं, विद्वानों के अनुसार दीपावली के दिन काली मां ने एक ऐसे राक्षस का वध किया था जिसका नाम रक्तबीज था और उसके अत्याचार से संपूर्ण समाज त्रस्त था| और जब महाकाली ने उस दुष्ट राक्षस का संहार किया तब लोगों ने अपने घरों में घी के दीपक जलाए थे|

पढ़िए भारत के प्रमुख धर्म 👉 Bharat ke pramukh dharm in Hindi

वैज्ञानिक दृष्टि से दिवाली का महत्व-

जैसा की हमने उपरोक्त बिंदु से देखा की दीपावली (Diwali) का हिंदू धर्म में पौराणिक एवं ऐतिहासिक महत्व है परंतु इसके अतिरिक्त दिवाली का वैज्ञानिक दृष्टि से भी बहुत महत्व है| दिवाली का पर्व वर्षा ऋतु के बाद कार्तिक मास में मनाया जाता है और वर्षा ऋतु में कई प्रकार के कीड़े-मकोड़े, घास-फूस एवं गंदगी उत्पन्न हो जाती है| अधिकतर जगहों पर यह गंदगी सड़ जाती है और जिसके सड़ने से विषैली गैस उत्पन्न होती है आसपास के वातावरण को दूषित करती हैं| क्योंकि दीपावली के दिन घरों एवं आसपास की जगह को साफ किया जाता है जिससे यह गंदगी कीड़े मकोड़े खत्म हो जाते हैं| इस प्रकार हम यह कह सकते हैं कि दीपावली पर्यावरण को स्वच्छ एवं स्वस्थ बनाती है|

paragraph on diwali essay in hindi language par nibandh

दीपावली का दार्शनिक महत्व-

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि दिवाली के पर्व को प्रकाश का पर्व भी कहा जाता है, और यह पर्व अंधेरे पर प्रकाश की एवं असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है| इस प्रकार से हम यह समझ सकते हैं कि अंधेरा कितना भी गहरा हो, ज्ञान और कर्तव्य का सामूहिक दीप उस अंधेरे का विनाश कर देता है और उसे प्रकाश में बदल देता है| मिट्टी से बना हुआ दीपक जल कर हमें यह संदेश देता है कि तुम भी मेहनत करो, प्रयासरत रहो, एक ना एक दिन तुम भी इस संपूर्ण संसार में अपनी प्रकाश किरण को प्रज्वलित करोगे|

दहेज़ प्रथा पर निबंध पढ़ने के लिए क्लिक करें 👉 Essay on Dowry System in Hindi

दीपावली का व्यवसायिक महत्व-

दीपावली का ऐतिहासिक, पौराणिक एवं दार्शनिक महत्व के अतिरिक्त व्यवसायिक महत्व भी है| इस दिन प्रत्येक व्यवसायी (बिजनेस मैन) लक्ष्मी जी की पूजा करता है| हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार लक्ष्मी जी धन की देवी है| दीपावली के दिन से किसी भी व्यवसाय कार्य का प्रारंभ बहुत ही शुभ माना जाता है और इसके पीछे एक वैज्ञानिक कारण भी है की -दीपावली के पर्व के समय वर्षा ऋतु समाप्त हो जाती है और व्यवसायिक कार्यों के लिए यात्रा और पर्यटन सुलभ हो जाता है| दीपावली के दिन किसान अपनी धान की फसल को काट कर अपने घर ले आते हैं और इसे बहुत ही शुभ माना जाता है|

विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध

दीपावली के लाभ एवं हानियां-

Paragraph on Advantages And Disadvantages of Diwali in Hindi- जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हर सिक्के के 2 पहलू होते हैं उसी तरह दीपावली के पर्व से कुछ लाभ हैं तो कुछ हानियां भी हैं| दीपावली के लाभ एवं हानियां अग्रलिखित है-

दीपावली से लाभ | Diwali Se Labh- दीपावली का पर्व मात्र एक त्यौहार नहीं है अपितु इस पर्व के कई लाभ भी हैं| जैसा की हमने उपरोक्त बिंदुओं में भी देखा कि इस दिन घर एवं आसपास की जगहों की सफाई की जाती है, जिससे हमारा वातावरण शुद्ध होता है| लोग एक दूसरे के घर जाकर उनको बधाई संदेश देते हैं जिससे आपसी सद्भावना का विकास होता है और लोगों में मेलजोल बढ़ता है| दीपावली का पर्व हमें असत्य पर हुई सत्य की विजय का ज्ञान कर आती है और हमें हमेशा अज्ञानता, बुराइयों एवं असत्य से लड़ने के लिए प्रेरित करता है|
दीपावली से हानि | Diwali se Hani- जैसा की हमने देखा कि दीपावली से मनुष्य को कई प्रकार के लाभ हैं, परंतु इन लाभों के अतिरिक्त दीपावली से कुछ हानियां भी है| दीपावली के दिन लोग शराब पीकरअशिष्ट आचरण करने लगते हैं एवं इस दिन लोग जुआ खेलते हैं और अपना पैसा बर्बाद करते हैं| दीपावली के दिन बहुत सारा पटाखा छुड़ाया जाता है जोकि वातावरण को प्रदूषित भी करता है और इस तरह से लोग दीपावली के लाभ को हानि में रुपांतरित कर देते हैं|

Share this with your friends--

Leave a Reply