हम्मूराबी की विधि संहिता

  • 0

हम्मूराबी की विधि संहिता

बेबीलोन के शासक हम्मूराबी को प्रथम कानून निर्माता की संज्ञा दी गई है| हम्मूराबी ने अपने शासनकाल में कानून को तैयार करके उन्हें एक पत्थर पर खुदवाया था| हम्मूराबी ने जिस पत्थर पर कानून को खुदवाया था वह काले रंग का था और उस पत्थर की ऊंचाई लगभग 8 फीट थी| इस पत्थर को बेबीलोन के प्रमुख जिगुरत में रखा गया था| इसी कानून को हम हम्मूराबी की विधि संहिता के नाम से जानते हैं| हम्मूराबी की विधि संहिता 1920 ईस्वी में सूसा (ईरान) मैं प्राप्त हुई थी| यह विधि संहिता पेरिस के लूवरे संग्रहालय में आज भी सुरक्षित है|

हम्मूराबी की विधि संहिता 3600 पंक्तियों में लिपिबद्ध की गई थी और इस संहिता में 285 धाराएं थी| इस विधि संहिता के अनुसार-

  1. कानून को कोई भी अपने हाथ में नहीं ले सकता था और अपराधी को सजा देने का काम सरकार का था|
  2. सभी प्रकार के ठेकों के लिए नियम निर्धारित थे|
  3. कानून अमीर व गरीब सभी के लिए एक समान था|
  4. कर्जदारों को राहत देने के लिए रहन रखने की प्रथा चालू की गई थी|
  5. नौकर तथा नौकर रखने वाले दोनों के लिए नियम बनाए गए थे|
  6. ब्याज की दरें निर्धारित की गई थी और इसके साथ ही साथ मुआवजा देने की प्रथा भी चालू की गई थी|
  7. रोज की मजदूरी पर कार्य करने वाले श्रमिकों की मजदूरी भी तय की गई थी|

हम्मूराबी की विधि संहिता विश्व के इतिहास में विशेष स्थान रखती है| और हम यह कह सकते हैं कि इन कानूनों को लिपिबद्ध करके विशाल साम्राज्य के जन समूह में उन्हें लागू करना उस समय के महानतम कार्यों में से एक था|

Share this with your friends--

Leave a Reply

error: Content is protected !!