भारत के प्रमुख धर्म (Major Religions in India)

  • 0
Bhaarat ke pramukh dharm

भारत के प्रमुख धर्म (Major Religions in India)

हिंदू धर्म-

यह धर्म सिंधु का फ़ारसी रूपांतरित शब्द है. छँठी शताब्दी में भारत आया तथा इसके आधार वेद हैं . पुरातन हिंदू धर्म में अग्नि, वरुण, सोम आदि देवता थे. आधुनिक हिंदू धर्म में शंकराचार्य का अद्वैतवाद सम्मिलित है. इस धर्म के अनुयायियों के प्रमुख त्योहार होली, दीपावली, रक्षाबन्धन, दशहरा आदि हैं, इनके अनुयायियों का प्रतिशत 80.5% है.

इस्लाम धर्म-

भारत में द्वितीय धार्मिक जनसंख्या वाला धर्म इस्लाम है, इसका प्रसार लक्ष्दीप समूह, जम्मू कश्मीर तथा असम एवं पश्चिमी बंगाल में अधिक है. इस धर्म के प्रमुख त्योहार ईदुल जुहा, ईदुल फितर, मोहर्रम आदि हैं, इनके अनुयायियों का प्रतिशत 13.4% है.

सिख धर्म-

पूरे भारत वर्ष में फैला यह धर्म पंजाब में सबसे ज़्यादा प्रचारित है. यह केश, कड़ा, कंघा, कृपाण तथा कच्छ में विश्वास करता है. प्रमुख त्योहार बैसाखी एवं अनुयायियों का प्रतिशत 1.84% है.

जैन धर्म-

यह धर्म राजस्थान , गुजरात , महाराष्ट्र मे अधिक विस्तारित है और साथ ही साथ पूरे भारत में फैला है. त्रिरत्न जैन धर्म के मुख्य अंग हैं- सम्यक श्रद्धा, सम्यक आचरण तथा सम्यक ब्रह्मचर्या. यह धर्म पंचमहाव्रतों के पालन पर ज़ोर देता है और इसके अनुयायियों की संख्या का प्रतिशत 0.4% है.

बौद्ध धर्म

इस धर्म की स्थापना महात्मा गौतम बुद्ध ने की थी, जिसका अर्थ है प्रकाशमान. इस धर्म के चार महान सत्य हैं तथा आठ आष्टांगिक मार्ग हैं- सम्यक दृष्टि, संकल्प, वाणी, कमन्ति, आजीव, व्यायाम स्मृति एवं सम्यक समाधि . इस धर्म के अनुयायियों का प्रतिशत 0.8% है.

ईसाई धर्म-

ईसाई धर्म गोआ, महाराष्ट्र एवं अरुणांचल प्रदेश के साथ साथ तमिलनाडु और केरल में अधिक विस्तारित है. इस धर्म के प्रमुख त्योहार गुड फ्राइडे एवं क्रिसमस हैं. यह धर्म दो अंगो में विभाजित है- प्रोटेस्टेड वा कैथोलिक. इसके अनुयायियों का प्रतिशत 2.33% है.

Get tips for IAS Preparation in Hindi

पारसी धर्म-

यह धर्म मुंबई के पास अधिक मान्य है.

यहूदी धर्म-

बहुत कम जनसंख्यां में यह धर्म सभी जगह पाया जाता है.

प्रमुख धर्म तथा उनके पूजा स्थल एवं पुस्तकें-

धर्मपूजा स्थलधार्मिक पुस्तकें
हिंदू मंदिरवेद, महाभारत, पुराण, रामायण
इस्लाम मस्जिदक़ुरान
सिख गुरुद्वारा गुरु ग्रंथ साहिब
ईसाई चर्च बाइबिल
पारसीअग्नि मंदिर जेंद अवेस्ता
यहूदी सिनेसांग तोराह

Leave a Reply